LATEST ARTICLES

‘BJP राज में 1 लाख किसानों ने किया सुसाइड’

Samachar UP: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने X पर एक पोस्ट के जरिए बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका ने लिखा- आज देश में हर दिन 30 किसान आत्महत्या कर रहे हैं। भाजपा राज में 1 लाख से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या कर ली। प्रियंका ने आगे लिखा कि कृषि में इस्तेमाल होने वाली जरूरी वस्तुओं और उपकरणों पर GST वसूली जाती है। 10 साल में न किसानों को MSP मिली, न आय दोगुनी हुई। कर्ज में डूबे किसानों का एक पैसा माफ नहीं हुआ लेकिन चंद उद्योगपतियों का 16 लाख करोड़ माफ कर दिया गया।

कांग्रेस ने किया वादा (Congress manifesto)

प्रियंका ने X पर आगे लिखा कि कांग्रेस सरकार में किसानों का कर्ज माफ होगा। कृषि उपकरण GST मुक्त होंगे। MSP की कानूनी गारंटी होगी। फसलों के नुकसान पर 30 दिन में मुआवजा मिलेगा। नई आयात-निर्यात नीति बनेगी।

कांग्रेस का घोषणा पत्र (Congress Manifesto for 2024 Elections)

  • राष्ट्रव्यापी आर्थिक सामाजिक जाति गणना होगा।
  • अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग और गरीब सामान्य वर्ग के लिए आरक्षित पर 50% तक का सीमा को हटाने के गारंटी दी गई है।
  • अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति और पिछड़े वर्ग के आरक्षित सभी खाली पड़ा 1 वर्ष से भीतर भरे जाएंगे
  • शिक्षा और नौकरियों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए 10% आरक्षण बिना किसी भेदभाव के और जाति समुदाय के लोगों को लागू किया जाएगा।
  • संविदा भर्ती के नियमित भारतीय प्रतिस्थापित किया जाएगा और मौजूदा संविदा कर्मियों को सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र में एजेंसी में नियमित किया जाएगा।
  • भूमिहीन को जमीन भी दी जाएगी।
  • व्यापक परामर्श के बाद पार्टी LGBTQIA+ के समुदाय में संबंधित जोड़ों के बीच नागरिक संघों और मान्यता देने के लिए कानून भी लेगी।
कांग्रेस घोषणा पत्र Pdf

कौन हैं डॉ विनोद बिंद, जिन्हें भाजपा ने भदोही से दिया टिकट

लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने एक और लिस्ट जारी कर दी है। इसमें पार्टी ने भदोही सीट से प्रत्याशी के नाम का एलान किया है। इस सीट पर बीजेपी ने डॉ विनोद कुमार बिंद ( Vinod bind Bhadohi ) को टिकट दिया है। इस सीट पर I.N.D.I.A गठबंधन से TMC प्रत्याशी ललितेश पति त्रिपाठी चुनाव लड़ रहे हैं।

पेशे से सर्जन हैं विनोद बिंद

डॉक्टर विनोद कुमार बिंद निषाद पार्टी से मिर्ज़ापुर के मझवा से विधायक हैं। वह पेशे से सर्जन हैं और बिन्द समाज के प्रतिष्ठित लोगों में इनकी गिनती होती है।
Vinod kumar bind ko ticket
Vinod kumar bind
 

रमेश बिंद का टिकट कटा

इसी के साथ बीजेपी ने वर्तमान सांसद रमेश चंद्र बिंद का टिकट गया है। उनको लेकर भदोही की जनता में विरोध की लहर थी। भदोही की जनता बीजेपी से टिकट काटने की मांग कर रही थी।

बिंद वोटर्स की संख्या लगभग 3 लाख 

भदोही लोकसभा में बिंद समुदाय की संख्या लगभग तीन लाख के आसपास है। ऐसे में पार्टी का बिंद समुदाय को टिकट देना एक बड़ा मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है। वर्तमान सांसद डॉ रमेश चन्द्र बिंद को लेकर पार्टी के अंदरखाने समेत आम लोगों में भी नाराजगी थी। बताया जा रहा है इसी को आधार बनाकर पार्टी ने रमेश बिंद का टिकट काटा है। टोल प्लाजा विवाद से सुर्खियों में आए डॉ विनोद Vinod bind Bhadohi डॉ. विनोद कुमार बिंद अपने समर्थकों के साथ दिसंबर 2022 में वाराणसी और जून 2023 में भदोही के टोल प्लाजा पर हुए विवाद को लेकर सुर्खियों में रहे हैं। दोनों ही मामलों में विनोद के समर्थकों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए थे।

बीजेपी से नाराज पवन सिंह? इस सीट से लड़ेंगे चुनाव

लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भोजपुरी एक्टर पवन सिंह (Pawan Singh) ने एलान किया है कि वह बिहार के काराकाट सीट से लोकसभा चुनाव लडे़ंगे। हालांकि अभी उन्होंने ये कंफर्म नहीं किया है कि वह बीजेपी के सीट से चुनाव लड़ेगे या निर्दलीय।

बीजेपी की नई लिस्ट के बाद एलान

बीजेपी ने आज (10 अप्रैल) प्रत्याशियों की नई लिस्ट जारी की। इसमें पार्टी में आसनसोल सीट से पवन सिंह का नाम रिप्लेस करके एस.एस. अहलूवालिया को टिकट दे दिया है। बता दें कि लोकसभा चुनाव के ऐलान से पहले पवन सिंह बीजेपी में शामिल हुए थे। कयास लगाए जा रहे थे पवन सिंह को बीजेपी बिहार से चुनाव लड़ाएगी, लेकिन आसनसोल से पवन सिंह की उम्मीदवारी के ऐलान के बाद सभी कयासों पर विराम लग गया। इससे पवन सिंह को लेकर राजनीतिक सरगर्मी भी बढ़ गई थी।

पवन सिंह से नाराज भाजपा? Pawan Singh

आसनसोल से चुनाव लड़ने से इनकार करने के बाद से बीजेपी पवन सिंह से नाराज चल रही है। यही कारण है कि बिहार के लिए बीजेपी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में उनका नाम नहीं है। उधर पवन सिंह ने अपने सोशल मीडिया (X और फेसबुक) के कवर फोटो से पीएम मोदी के साथ वाली फोटो भी हटा दी है।

BJP ने जारी की UP की एक और लिस्ट

बीजेपी ने लोकसभा उम्मीदवारों ( bjp new list for 2024 election ) की एक और लिस्ट जारी कर दी। इसमें कुल 9 प्रत्याशियों के नाम शामिल हैं। बीजेपी की लिस्ट में यूपी की 7 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया गया है।

कट गया रीता बहुगुणा जोशी का टिकट

बीजेपी ने इलाहाबाद से रीता बहुगुणा जोशी का टिकट काट दिया है। उनकी जगह नीरज त्रिपाठी को उतारा गया है। नीरज त्रिपाठी पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी के पुत्र हैं। पंडित केशरी नाथ त्रिपाठी शहर दक्षिणी से कई बार विधायक रह चुके हैं और विधानसभा अध्यक्ष के अलावा पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रह चुके हैं। bjp new list for 2024 election

डिंपल यादव के सामने जयवीर सिंह

इसके अलावा मैनपुरी से भी बीजेपी ने अपने पत्ते खोल दिए हैं। बीजेपी ने मैनपुरी से समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी डिंपल यादव के सामने जयवीर सिंह को उतारा है। ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि बीजेपी मुलायम परिवार की बहू अपर्णा यादव को इस सीट पर उतार सकती है।
अफजाल अंसारी के सामने पारस नाथ राय
गाजीपुर सीट पर भी बीजेपी ने अपने प्रत्याशी की घोषणा कर दी है। यह सीट इसलिए चर्चित है क्योंकि यहां से मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी समाजवादी पार्टी के टिकट पर मैदान में हैं। बीजेपी ने इस सीट पर पारस नाथ राय को टिकट दिया है। पारस नाथ पुराने बीजेपी नेता रहे हैं जो मनोज सिन्हा के करीबी माने जाते हैं और पहली बार सांसदी के चुनाव में उतर रहे हैं। bjp new list for 2024 election
लोकसभा चुनाव: सपा का घोषणा पत्र जारी
आसनसोल सीट इसके अलावा पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से एस एस अहलुवालिया को टिकट दिया है। इस सीट से बीजेपी ने पहले भोजपुरी स्टार पवन सिंह को उम्मीदवार बनाया था, लेकिन बाद में उन्होंने टिकट लौटा दिया था। इस सीट से टीएमसी ने अभिनेत्रा शत्रुघ्न सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है।  
सीट उम्मीदवार
चंडीगढ़ संजय टंडन
मैनपुरी जयवीर सिंह ठाकुर
कौशाम्बी विनोद सोनकर
फूलपुर प्रवीण पटेल
इलाहाबाद नीरज त्रिपाठी
बलिया नीरज शेखर
मछलीनगर बीपी सरोज
गाजीपुर पारस नाथ राय
आसनसोल एस एस अहलुवालिया
    यूपी की इन पांच सीटों पर अभी भी सस्पेंस बरकरार कैसरगंज, देवरिया, रायबरेली, फिरोजाबाद, भदोही से उम्मीदवारों के नाम अभी तय नहीं पाया है। इन सीटों पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है। 

लोकसभा चुनाव: सपा का घोषणा पत्र जारी

समाजवादी पार्टी ने घोषणा पत्र (Samajwadi Party Manifesto) जारी कर दिया है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। अखिलेश यादव ने कहा कि ”हमने अपने विजन डॉक्यूमेंट को ‘जनता का मांग पत्र – हमारा अधिकार’ नाम दिया है। अखिलेश यादव ने बताया कि किसानों का कर्ज माफ किए जाएंगे। 2019 तक गरीबों का पूर्ण उन्मूलन किया जाएंगा। निजी क्षेत्र में सभी वर्गों की भागीदारी देंगे। दूध समेत सभी फसलों की यह मार्च MSP देंगे। कानून गारंटी के रूप में किसानों को एसपी किसानों के लिए सिंचाई की मुक्त व्यवस्था करेंगे।

Samajwadi Party Manifesto

अखिलेश ने कहा कि महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण और मुफ्त शिक्षा दिया जाएगा। नि:शुल्क शिक्षा का अधिकार है। उन्होंने जीडीपी तीन फीसदी से बढ़ाकर छह फीसदी करने का वादा किया। इसके साथ उन्होंने कर्मचारियों से पुरानी पेंशन स्कीम भी सभी विभागों में बहाल करने के लिए वादा किया। इसके अलावा अग्निवीर नीति को समाप्त किया जाएगा। उन्होंने तकहा कि अगर भाजपा दोबारा आई तो कहीं, पुलिस पीएसी में भी तीन साल की नौकरी न कर दे। उन्होंने कहा कि गरीबों को घटिया राशन दिया जा रहा है। पौष्टिक भोजन नहीं मिल रहा। इसके अलावा ….

युवा और रोजगार

  • मनरेगा के तहत मजदूरी बढ़ाकर 450 रुपये की जाएगी और कार्य के दिन 150 तक किये जाएंगे
  • मनरेगा की तर्ज पर शहरी रोजगार गारंटी अधिनियम 2024 के पहले संसदीय सत्र में लागू किया जाएगा
  • सभी रिक्त पड़ी सरकारी नौकरियों को तत्काल भरा जाएगा
  • सभी के लिए राष्ट्रीय रोजगार नीति और मिशन रोजगार स्थापित किया जाएगा
  • युवाओं के लिए लैपटॉप वितरण योजना पूरे देश में लागू की जाएगी
  • पेपर लीक और प्रतियोगी परीक्षाओं में भ्रष्टाचार को पूर्ण रूप से समाप्त किया जाएगा
   

B.Ed शिक्षकों पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

> प्राइमरी शिक्षक के रुप में नियुक्त B Ed डिग्री धारकों की नियुक्ति का मामला > 11 अगस्त 2023 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले प्राइमरी शिक्षक के रूप में नियुक्त B Ed डिग्री धारकों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत। उनकी नियुक्ति पर कोई असर नहीं होगा > अगर किसी कि नियुक्ति अनंतिम थी और इस शर्त पर हुई थी कि उसकी नियुक्ती सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निर्भर करेगी, उसकी नियुक्ती अवैध होगी। मतलब अपने पद पर नहीं रहेंगे।

शिवपाल यादव को मिला बीजेपी में शामिल होने का ऑफर

जैसे-जैसे लोकसभा का चुनाव नजदीक आ रहा है नेताओं के एक-दूसरे पर बयानबाजी भी बढ़ गई है। इसी कड़ी में अब एक बीजेपी नेता समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) को बीजेपी में शामिल होने का ऑफर दे दिया है। दरअसल पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री और बीजेपी सांसद प्रो.रामशंकर कठेरिया ने शिवपाल को पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने का खुला ऑफर दिया है। उन्होंने कहा- उनकी ओर से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव को भाजपा में शमिल होने का खुला आफर दिया गया है। अगर शिवपाल भाजपा में आते हैं तो उनका न केवल दिल से स्वागत किया जाएगा बल्कि जोरदार सम्मान भी किया जाएगा।

अखिलेश ने सब बर्बाद कर दिया

कठेरिया ने अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा किमुलायम सिंह यादव ने बड़ी मेहनत और त्याग से जो समाजवादी पार्टी खड़ी की है, उसे उनके बेटे अखिलेश यादव ने पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है और इसीलिए एक के बाद एक करके यादव वर्ग के नेता अखिलेश का साथ छोड़ रहे है। अखिलेश के अंदर नेतृत्व की कोई क्षमता नहीं प्रतीत हो रही है। शिवपाल ने बदायूं सीट लड़ने से किया इनकार बता दें, सपा ने शिवपाल सिंह यादव को बदायूं सीट से उम्मीदवार बनाया था, लेकिन 2 अप्रैल को उन्होंने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया और इस सीट से अपने बेटे आदित्या यादव को चुनाव लड़ाने का एलान किया। उनके इस फैसले के बाद से राजनीतिक गलियारों में कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।  

10000 में 5 सबसे धमाकेदार 5G स्मार्टफोन

अगर आप 10000 रुपए के अंदर तक बढ़िया स्मार्टफोन की तलाश में हैं तो आज हम आपको ऐसे 5 बेस्ट 5G स्मार्टफोन के बताएंगे, जो 10 हजार रुपये से कम कीमत में आते हैं। साथ ही बैटरी, डिस्प्ले और प्रोसेसर के मामले में काफी शानदार हैं।

ये हैं 5 सबसे सस्ते बेस्ट 5G फोन ( 10000 Tak ka 5g phone )

मोटोरोला जी 14

  • इनमें आपको 128 जीबी इनबिल्‍ड स्‍टोरेज मिलती है
  • UNISOC T616 Octa-core Processor से यह लैस है
  • इसमें फुल एचडी+ 6.5 इंच की डिस्‍प्‍ले लगी है
  • इसमें 50MP + 2MP मेन कैमरा और 8 MP का फ्रंट कैमरा लगा है
  • 20 वॉट टर्बोपावर वाली 5000 mAh की बैटरी इसमें लगी हुई है
  • अमेजन पर Motorola G14 की कीमत फिलहाल 9,000 रुपए है

Redmi 13C

  • 10 हजार रुपए से कम कीमत में आने वाला एक शानदार 5जी फोन है
  • 4GB RAM, 128GB ROM के साथ आने वाले इस स्‍मार्टफोन में मीडियाटेक हेलियो जी85 प्रोसेसर लगा है
  • 50 MP एआई ट्रिपल कैमरा भी इस फोन में लगा है
  • 5000mAh बैटरी
  • फोन की डिस्‍पले कार्निंग गोरिल्‍ला ग्‍लास 3 प्रोटेक्‍शन के साथ आती है
  • अमेजन पर इस फोन की कीमत अभी 8,999 रुपए है
सैमसंग गैलेक्‍सी M04
  • 4GB रेम, 128GB स्‍टोरेज
  • MediaTek Helio P35 Octa Core 2.3GHz प्रोसेसर
  • एंड्रॉयड 12, 13MP+2MP ड्यूल कैमरा सेटअप
  • 5MP फ्रंट कैमरा और 5000mAH lithium-ion बैटरी
  • फिलहाल यह फोन ₹8,499 में मिल रहा है।
रेडमी12
  • यह फोन 4GB RAM, 128B ROM के साथ आता है जिसे 1TB तक बढ़ाया जा सकता है
  • 6.79 इंच फुल एचडी+डिस्‍प्‍ले
  • 50MP + 8MP + 2MP मेन कैमरा और 8MP फ्रंट कैमरा जैसे फीचर्स से यह लैस है
  • इस फोन में भी 5000 mAh की बैटरी लगी है
  • इसमें Helio G88 प्रोसेसर दिया गया है
  • इसकी कीमत 9,499 रुपए है
लावा ब्‍लेज 5G इस फोन में 50MP AI ट्रिपल कैमरा 4+3 GB RAM, 128GB ROM, जिसे 1 TB तक बढ़ाया जा सकता है 6.5 इंच एचडी+डिस्‍प्‍ले क्‍लीन एंड्रॉयड 12 ओएस और 5000mAh क्षमता की लिथियम पॉलीमर बैटरी से लैस है ऑक्टा-कोर 2.2GHz मीडियाटेक डाइमेंशन 700 प्रोसेसर लगा है इस फोन की कीमत ₹9,299 है
देशभर के लिए अलर्ट! हीटवेव से सावधान

देशभर के लिए अलर्ट! हीटवेव से सावधान

गर्मी शुरू होते ही हीटवेव की समस्या भी बढ़ जाती है। हीटवेव एक ऐसा स्थिति है जब शरीर की तापमान अत्यधिक हो जाती है और इससे हानि होती है। यह समस्या उन लोगों को ज्यादा प्रभावित करती है जो गर्मी में लंबे समय तक धुप में रहते हैं। Heatwave se kaise bache

हीटवेव के कुछ प्रमुख लक्षण (heat wave symptoms in hindi)

थकान, चक्कर आना, भूख में कमी, गंभीरता के साथ तेज धड़कन, अत्यधिक पसीना और चिंता। अधिकतम तापमान निरंतर उच्च रहने से शरीर के तंतु, मांसपेशियों, और इंद्रियों को नुकसान पहुंच सकता है और यह अत्यधिक ताप की वजह से जीवन को भी प्रभावित कर सकता है।

हीटवेव से कैसे बचें (heatwave se kaise bache)

  • हाइड्रेशन: अपने शरीर में पानी की कमी न होने दें। थोड़े-थोड़े अंतराल में पानी पीते रहें। ताकी बॉडी हाइड्रेटेड रहे।
  • ठंड जगहों पर रहें: गर्मी में ठंडे जगहों पर रहना और धुप से बचाव करना आवश्यक है। तापमान के बढ़ने पर शरीर को संतुलित रखने के लिए ठंडा पानी इस्तेमाल करें।
  • संतुलित आहार: उचित पोषण और पर्याप्त पौष्टिक आहार लेना हीटवेव से बचाव में मदद कर सकता है। खासकर फल, सब्जियां और हरे पत्ते जैसे ताजा खाद्य पदार्थ खाएं।
  • आराम: तापमान के बढ़ने के दौरान शरीर को अधिक विश्राम और आराम देने की जरूरत होती है। नियमित आदतों का पालन करें और उचित नींद लें।
  • नियमित अंतराल पर शॉवर ले सकते हैं: तापमान के बढ़ने के कारण शरीर से पसीना बहने से पैदा होने वाले ताप को दूर करने के लिए नियमित अंतराल में शावर या तौलिए का इस्तेमाल करें। ध्यान रहें धूप में से आते ही शॉवर न लें।
  heatwave se kaise bache

अगर किसी को हीटवेव के लक्षण हैं तो…

अगर किसी में हीटवेव के लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे तुरंत ठंडे पानी से साफ करें और तब तक डॉक्टर से संपर्क करें जब तक स्थिति नियंत्रित नहीं हो जाती।   अधिक ध्यान और सावधानी से, हीटवेव से बचाव किया जा सकता है और स्वस्थ रहा जा सकता है। ध्यान रखें कि अगर नॉर्मल क्रिया से बात नहीं बन रही है तो डॉक्टर से फौरन सलाह लें।

जौनपुर की इमरती को मिला GI टैग

Jaunpur Imarti : जौनपुर की इमरती को आखिरकार दो साल के अथक प्रयास से भौगोलिक संकेत (GI) टैग मिल गया। ब्रिटिश काल से बन रही इमरती को GI  मिलने से जौनपुर में खुशी की लहर है। नई पहचान से जौनपुर की मशहूर इमरती को देश और विदेश में विशेष स्थान प्राप्त होगा।

इमरती के अलावा काशी क्षेत्र के और नौ उत्पादकों को GI टैग

शनिवार को बनारस की ठंडई, शहनाई और तबला के साथ-साथ लाल पेड़ा, भरवां मिर्च और चिरईगांव का करौंदा भी GI tag मिल गया। अब बनारस के साथ-साथ यूपी, देश में सबसे ज्यादा GI उत्पाद वाला राज्य बन गया है। बनारस में जहां सबसे अधिक 32 उत्पाद GI हो गए हैं, तो राज्य में संख्या 69 तक पहुंच गई है।
करौंदा, karaunda gi tag
करौंदा

बनारस परिक्षेत्र में इन उत्पादकों को मिल चुका है GI Tag

बनारस परिक्षेत्र (आस-पास के जिलों) में कई उत्पादकों को GI टैग मिल चुका है। इनमें- बनारस ब्रोकेड्स और साड़ी, बनारसी लंगड़ा आम, हैंडमेड कारपेट ऑफ भदोही, रामनगरी भंटा, बनारसी गुलाबी मीनाकारी, बनारसी पान, वाराणसी वुडेन लेकरवियर एंड ट्वायज, आदमचीनी चावल, मिर्जापुर की हैंडमेड दरी, वाराणसी ग्लास बीड्स, निजामाबाद का ब्लैक पाटरी, मऊ साड़ी, बनारस का मेटल रिपोजी क्राफ्ट, गोरखपुर का टेराकोटा, गाजीपुर की वाल हैंगिंग, बनारसी ठंडई, वाराणसी साफ्ट स्टोन जाली वर्क, बनारसी तबला, चुनार का बलुआ पत्थर, बनारसी शहनाई, बनारस का लाल भरवा मिर्च, वाराणसी वुड कार्निंग।

क्या होता है GI टैग?

भौगोलिक संकेत (GI) टैग, एक ऐसा नाम या चिह्न है जिसका उपयोग उन विशेष उत्पादों पर किया जाता है जो किसी विशिष्ट भौगोलिक स्थान या मूल से संबंधित होते हैं। GI टैग यह सुनिश्चित करता है कि केवल अधिकृत उपयोगकर्त्ताओं या भौगोलिक क्षेत्र में रहने वाले लोगों को ही लोकप्रिय उत्पाद के नाम का उपयोग करने की अनुमति है।