Friday, April 12, 2024

​इस रिपोर्ट के मुताबिक ” गंजापन ” है सफलता का राज़, पढ़िए पूरी खबर

जरा हटके:-  क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि ज्यादातर सफल बिजनेसमैन गंजे होते हैं. उदाहरण के तौर पर सत्या नडेला( माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ), जेफ़ बेज़ोस ( अमेज़न के मालिक), लॉयड ब्लैन्कफिन(हेड,गोल्डमैन सैक्स) आदि सभी लोग गंजे हैं. गंजापन और सफलता का यह सम्बन्ध मात्र एक संयोग नहीं रहा बल्कि अब यह बात एक रिपोर्ट में सिद्ध हो चुकी है. जानिये इस रिपोर्ट के दिलचस्प पहलूओं को-

क्या कहती है रिपोर्ट

  • पेंसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी के एक रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार गंजे लोग ज्यादा अच्छे लीडर होते हैं. इसी कारण अधिकतर सफल बिज़नेसमैन गंजे होते हैं.
  • रिपोर्ट में इस तथ्य के पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी बताया गया है.
  •  इस कारण में यह बताया गया है कि आम लोगों के बीच यह मानसिक धारणा होती है कि गंजे लोगों में ज्यादा बेहतर लीडरशिप के गुण होते हैं.
  •  इसी कारण आम जनता आसानी से गंजे लोगों के भीतर काम करते है और अपने बॉस को सफलता की सीढ़ी चढ़ाते हैं.

(ये भी पढ़े:- ​तलाक के पैसो पर ऐश करने के लिए ट्रोल हुई मलाइका अरोड़ा..!)

किये गए थे तीन प्रयोग-

आपको बता दें इस अनोखे प्रयोग का पूरा श्रय अल्बर्ट मैनेस को जाता है. अल्बर्ट ने ऊपर कहा गया निष्कर्ष तीन प्रयोग करने के बाद निकाला है.

  • पहला प्रयोग- इसमें अल्बर्ट ने आम लोगों को प्राकृतिक गंजे लोगों की दो तरह की तस्वीर दिखाई. पहले तस्वीर में उन्हें बिना बालों के दिखाया गया तो दुसरे में बालों के साथ दिखाया गया. ज्यादातर आम लोगों ने बिना बाल वाले तस्वीर की छवि बेहतर और प्रभावशाली बताई.
  •  दूसरा प्रयोग- इसमें दो अलग- अलग तस्वीरें बाल के साथ  दिखाई गयी, बाद में एक तस्वीर को कंप्यूटर की मदद से गंजा किया गया.
  • तीसरा प्रयोग- लोगों को इन तस्वीरों में रौब और आकर्षण जैसी पहलूओं पर रेटिंग देने को कहा गया.( ये भी पढ़िये:- ​तलाक के पैसो पर ऐश करने के लिए ट्रोल हुई मलाइका अरोड़ा..!)

अल्बर्ट मैनेस ने अपने तीनों प्रयोगों से यह निष्कर्ष निकाला कि,

  1. वे लोग जो प्राकृतिक गंजे होते हैं, वे दूसरों के मुकाबले ज्यादा प्रभावी होते हैं.
  2. वे लोग जो कृत्रिम ( आर्टिफीसियल) तरीकों से अपने बालों को हटाते हैं, बाल हटने के बाद ज्यादा प्रभावशाली और शक्तिशाली दिखते हैं.
  3. अगर कोई खुद को प्रभावशाली दिखाना चाहते हैं, तो उनलोगों के लिए गंजा होना एक अच्छा विकल्प है.

हालांकि यह रिपोर्ट इस बात पर मुहर नहीं लगाती कि गंजे होने से कोई इंसान सफल हो जाये.

कौन हैं अल्बर्ट मैनेस?

अल्बर्ट मैनेस अमेरिकी सरकार में डेटा साइंटिस्ट है. उनके मुताबिक, अमेरिकी समाज में वे पुरुष जो मुश्किल भरे प्रोफेशन से ताल्लुकात रखते हैं, वे अक्सर गंजे होते हैं. मैनेस बताते हैं कि मुझे इस विषय में रिसर्च की प्रेरणा तब मिली जब मुंडन के बाद लोग कुछ ज्यादा अलग दिखने लगे.
(साभार- प्रभात खबर)

Related Articles

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles