चित्रकूट भाजपा

भोपाल समाचार : जहां एक तरफ गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति सरगर्मी उफान पर है वहीं उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश के बॉर्डर पर स्थित चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव में भाजपा के लिए सोमवार का दिन एक बुरे सपने जैसा रहा। जहां कांग्रेस ने भाजपा को करीब 14 हजार वोटों  से हराया।

इस वजह से भाजपा की हुई हार

भारतीय जनता पार्टी की इस हार के बाद तरह तरह के अटकलें लगाई जा रहे हैं कि आखिर सत्तारूढ़ बीजेपी इतने ज्यादा वोटों से कैसे हार गई। इस बड़ी जीत के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने पार्टी की विजय पर प्रसन्नता जताते हुए कहा कि यह सभी नेताओं के समन्वित प्रयासों और कार्यकर्ताओं की लगन का परिणाम है। भाजपा के शासन से अब जनता तंग आ चुकी है। यही कारण है कि आज भाजपा को जनता ने भगा दिया।

कांग्रेस की हुई बड़ी जीत

गौरतलब है कि चित्रकूट में कांग्रेस प्रत्याशी नीलांशु चतुर्वेदी ने पूरे उन्नीस दौर की गणना के बाद 66 हजार आठ सौ 10 मत हासिल किए और उनके प्रतिद्वंद्वी भाजपा के श्री त्रिपाठी को 52 हजार छह सौ से अधिक मतों में ही संतोष करना पड़ा। इस प्रकार चतुर्वेदी चौदह हजार से अधिक मतों से विजयी घोषित किए गए।

अगले साल है विधानसभा चुनाव 

बता दें कि अगले साल होने साल मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं ऐसे में कांग्रेस के लिए ये एक संजीवनी बूटी की तरह काम करेगी।

Previous articleयूपी – तीन चरणों मे पूरा होगा निकाय चुनाव, जानिए आपके जिले में कब है चुनाव
Next articleप्रदेश अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी के वायरल हुई इस्तीफे की ये है सच्चाई.!