आज (4 जुलाई 2023) से महापर्व सावन शुरू हो रहा है। इस वर्ष सावन 58 दिनों का होगा। 4 जुलाई से सावन का पवित्र महीना शुरू होकर 31 अगस्त तक चलेगा। इस दौरान 18 जुलाई से 16 अगस्त तक अधिक मास रहेगा। इसी कारण से इस वर्ष सावन का महीना 2 महीने का होगा।

सावन माह की प्रमुख तिथियां

इस साल अधिकमास के कारण सावन का महीना 58 दिनों तक चलेगा। 4 जुलाई से सावन का महीना शुरू होकर 31 अगस्त तक रहेगा। इस दौरान कई त्योहार मनाए जाएंगे। 6 जुलाई को संकष्टी चतुर्थी, 13 जुलाई को कामिका एकादशी, 15 जुलाई को मासिक शिवरात्रि, 17 जुलाई को श्रावण माह की अमावस्या, 19 अगस्त को हरियाली तीज, 21 अगस्त नाग पंचमी, 30 अगस्त को रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जाएगा।

भोजन करने के दौरान इन चीजों का रखें खास ध्यान

सावन माह में किसी भी व्यक्ति को भूलकर भी मांस, मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए. इस दौरान इन चीजों का सेवन करने से शुभ फल की प्राप्ति नहीं होती है. सावन माह में लहसून, प्याज और बैंगन खाने से बचना चाहिए.

सावन के महीने में भूलकर भी शराब का सेवन न करें।
  • सावन के महीने में अगर संभव हो तो दाढ़ी भी न बनाएं।
  • सावन के महीने में घर-परिवार में हर प्रकार के झगड़े विवाद से दूर रहें।
  • सोमवार के व्रत को भूलकर भी बीच में न तोड़े। ऐसा करना शास्‍त्रों में गलत माना गया है। अगर आप पूरे दिन व्रत नहीं कर सकते हैं तो एक समय फलाहार करके करें।
  • सावन के महीने में भूलकर भी मांसाहार का प्रयोग न करें।
  • सावन के महीने में अदरक, लहसुन और प्‍याज खाना भी सही नहीं माना जाता है। हो सके तो न खाएं। वहीं पुराणों के अनुसार इस पवित्र महीने में मूली और बैंगन को भी खाना अशुद्ध माना जाता है।

सावन में शिवजी को क्या अर्पित करें और क्या नहीं

शिवजी को प्रसन्न करने के लिए सावन के महीने में जल, बिल्व पत्र, आंकड़े के फूल, धतूरा, भांग, चंदन, शहद, भस्म और जनेऊ भी जरूर चढ़ाएं। वहीं दूसरी तरफ शिव पुराण के अनुसार भगवन शिव को कुछ चीजें नहीं चढ़ानी चाहिए। शिवजी की पूजा में कभी भी केतकी के फूल, तुलसी दल, हल्दी, शंख जल, सिंदूर, कुमकुम, नारियल और टूटे हुए चावल नहीं चढ़ाना चाहिए।