निर्भया गैंगरेप मामले में चारों दोषियों को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वॉरंट को मंजूरी दे दी है। चारों आरोपियों (मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय सिंह और पवन गुप्ता) को तिहाड़ जेल में 22 जनवरी सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी।

फांसी की सजा की तिथि मुकर्रर किए जाने के बाद सभी राजनीतिक दलों ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। उधर, निर्भया की मां ने कहा कि यह आदेश कानून में महिलाओं के विश्वास को बहाल करेगा।

गौरतलब है कि 2012 के दिसंबर में देश की राजधानी दिल्ली में हुए गैंगरेप ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था। करिब सात साल बाद ये फैसला सुनाया गया।

Previous articleDelhi Elections 2020: दिल्‍ली में 8 फरवरी को वोटिंग और 11 को रिजल्‍ट
Next articleसाप्ताहिक करेंट अफेयर्स : 23 दिसंबर से 29 दिसंबर 2019 तक